स्पर्श व्यनजन कितने होते हैं|Sparsh Vyanjan kitne hote hain

स्पर्श व्यंजन कितने होते हैं

इस लेख के माध्यम से हम स्पर्श व्यंजन कितने होती हैं और उसके परिभाषा के वारे में चर्चा करने जा रहे ,इसलिए अगर आप को स्पर्श व्यंजन के वारे में जानना चाहते हैं ,तो यह लेख़ आपकेलिए बेहतर साबित हो सकता हैं।

यहां हम स्पर्श स्वर और स्पर्श व्यंजन कितने होते हैं (Sparsh Vyanjan kitne hote hain) ,डिटेल में जानकारी देने जा रहे  हैं ,इसलिए हमे उम्मीद है इस लेख के माध्यम से आप स्पर्श स्वर तथा उसके सभी भेदों के बारे में बेहतर से जान पाएंगे।

तो चलिए बिना समय गवाए स्पर्श स्वर के कितने प्राकर होती है विस्तार से चर्चा करते हैं।

स्पर्श व्यंजन किसे कहते हैं |Sparsh vynajn kise kahate hain

आपको बता दें अध्ययन के दृष्टी से व्यंजन वर्ण को तीन अलग-अलग प्रकरों में बिभेदीकरण किया जाता हैं ,जिसमे से एक है अन्तस्थ व्यंजन ,दूसरा है उष्म व्यंजन और तीसरा है स्पर्श व्यंजन जिस के बारे में यहाँ हम चर्चा करने जा रहे हैं।

स्पर्श व्यंजन के  परिभाषा  - ऐसे वर्ण जिसे उच्चारण करते समय या बोलते समय जीव मुँह के किसी न किसी अंग से स्पर्श होता है,उन वर्णों को विशेष रूप से स्पर्श व्यंजन कहा जाता हैं ।

स्पर्श व्यंजन को वर्गीय व्यंजन के नाम से भी जाना  जाता हैं। 

स्पर्श व्यंजन कितने होते हैं|Sparsh Vyanjan kitne hote hain

आपको बता दें स्पर्श व्यंजन की कुल  संख्या 25 होती हैं,जैसे क ,ख, ग ,घ, ङ,च ,छ,ज ,झ ,ञ,ट ,ठ ,ड ,ढ ,ण, त ,थ ,द ,ध ,न,प ,फ ,व ,भ और म।

स्पर्श व्यंजन की संख्या कितनी है - "क" वर्ण से लेकर "म" वर्ण के अंदर जितने भी वर्ण है उन सभी वर्णों को स्पर्श व्यंजन के रूप में गिना जाता हैं यानी हिंदी वर्णमाला पांच वर्ग को स्पर्श व्यंजन के अंर्गत शामिल किया जाता है ।

जैसे
:
'क' वर्ग - क ,ख, ग ,घ, ङ
'च' वर्ग -च ,छ,ज ,झ ,ञ
'ट' वर्ग - ट ,ठ ,ड ,ढ ,ण
'त' वर्ग - त ,थ ,द ,ध ,न
'प' वर्ग प ,फ ,व ,भ ,म

फाइनल वर्ड :

हमे यकीन है की आपने बेहतर से जान गए होंगे की स्पर्श व्यंजन किसे कहते हैं और स्पर्श व्यंजन कितने होते हैं ,लेकिन फिर भी आप स्पर्श व्यंजन से सम्बन्धित को सवाल है तो हमे बेझिझक पूछ सकते हैं।

इसे शेयर करें :

Leave a Comment