संयुक्त वाक्य किसे कहते हैं | Sanyukt Vakya

sanyukt vakya

संजुक्त वाक्य(Sanyukt Vakya) किसे कहते हैं , क्या आप इस प्रश्न का उत्तर जानना चाहते हैं, यह लेख आपकलिए जरूर फायदेमंद साबित रहने वाला हैं ,इसलिए अगर सही में आपको इस प्रश्न का उत्तर चाहिए है तो ,इस लेख को जरूर पढ़े.

आपको बता दें की ,इस लेख के जरिए हम संजुक्त वाक्य के बारे में विस्तार से चर्चा करने जा रहे हैं ,जिससे आप बेहतर से संजुक्त वाक्य किसे कहते हैं जान पाएंगे ,और इससे सम्बंधित कोई भी सबाल आपको पूछा जाए तो आप तुरंत जबाव  कर सकते हैं।

तो चलिए जानते हैं ,की संजुक्त वाक्य किसे कहते हैं ,उदाहरण के साथ।

संयुक्त वाकया (Sanyukt Vakya)

संयुक्त वाक्य किसे कहते हैं - ऐसे वाक्य जिसमे एक से अधिक उपवाक्य हो उस वाक्य को संजुक्त वाक्य कहा जाता हैं।

ध्यान दें :

  • संजुक्त वाक्य में कोई प्रधान वाक्य नहीं होती है।
  • इसमें एक से अधिक उपवाक्य होते हैं।
  • संजुक्त वाक्य सरल वाक्यों की मिलन से बनता हैं।
  • व्यक्य में स्तित सरल वाक्यों को ही उपवाक्य कहाजाता हैं।
  • व्यक्य में स्तित सभी उपवाक्य प्रधान होते हैं।
  • संयुक्त वाक्य में स्थित उपवाक्य एक दूसरे पर आश्रित नहीं होते हैं।
  • वाक्य में स्तित सभी उपवाक्य स्वतंत्र होते,यानी उपवाक्य को अलग अलग किया जाए तो भी वाक्य में कोई प्रभाब नहीं पडता हैं।

संयुक्त वाक्य के योजक शब्द - वाक्य में स्तित उपवाक्य अथवा सरल वाक्यों को योजक शब्द द्वारा जोड़ा जाता हैं।

जैसे :

लेकिन,किंतु,परंतु,या,अथबा,तथा,एबन,ब,परंतु ,ओर ,ब्ल्कि ,आदि।

संयुक्त वाक्य के  उदाहरण :

1. राम पढ़ रहा है ,लेकिन श्याम खेल रहा हैं

इस वाक्य में दो उपवाक्य है ,पहला उपवाक्य राम पढ़ रहा है ,इस उपवाक्य में राम उदेश्य (कर्ता) है और पढ़ रहा बिधेय (क्रिया ) हैं,अतः यह एक सरल वाक्य है। दुसरा उपवाक्य श्याम लेख रहा है ,इस वाक्य में श्याम उदेश्य है और लिख रहा बिधेय है ,यानी यह भी एक सरल वाक्य है।

इस वाक्य में दो उपवाक्य अथवा सरल वाक्य  है और इन्हे "लेकिन " योजक शब्द द्वारा जोड़ा गया है ,अतः यह वाक्य एक संजुक्त वाक्य है।

2. राम का मित्र श्याम खूब पड़ता है ,लेकिन राम नहीं पढता

इस वाक्य के पहला उपवाक्य में श्याम उदेश्य है और पड़ता बिधेय है ,और दूसरा उपवाक्य  में राम(कर्ता ) उदेश्य है और पढता(क्रिया ) बिधेय है।

इसलिए यह एक संजुक्त वाक्य है ,किउंकि  इसमें दो उपवाक्य है ,जैसे राम का मित्र श्याम खूब पड़ता है एक उपवाक्य है और राम नहीं पढता एक उप वाक्य है ,यानी यह वाक्य दो सरल (उपवाक्य से बनाया गया है और उसे :लेकिन " योजक सब्द द्वारा जोड़ा गया है।

3. राम का मित्र जदु  पड़ता  रहता है ,किन्तु राम  अपने छोटे भाई के साथ खेलता रहता हैं

ऊपर दी गई वाक्य में   दो उपवाक्य अथवा सरल वाक्य है ,और दोनों उपवाक्य को "किन्तु " योजक शब्द के द्वारा जोड़ा गया है ,अतः यह वाक्य एक संजुक्त वाक्य है।

फाइनल वर्ड :

इस लेख को पढ़ने के बाद आप निश्चित रूप से Sanyukt Vakya के बारे में जान गए होंगे , लेकिन फिर भी आपके पास संयुक्त वाक्य को लेकर कोई संदेह है, तो कृपया हमें कमेंट के माध्यम से बताएं , हम आपके संदेह को हल करने का प्रयास करेंगे।

शेयर करे :

सम्बंधित लेख़ :

1. सरल वाक्य किसे कहते हैं
2. मिश्र वाक्य किसे कहते हैं
3. वाक्य किसे कहते हैं
4. वाक्य के कितने अंग होते हैं।
5. वाकया के कितने भेद होते हैं।

Leave a Comment